बर्तन से बाथरूम तक की सफाई करेगी 'क्लीन एंड मोर'

July 21 2018

Download Vishva Times App – Live News, Entertainment, Sports, Politics & More

 देश में तेजी से बढ़ती डायरेक्ट सेलिंग कंपनी नेटसर्फ ने एक ऐसा उत्पाद पेश किया, जिससे बर्तन से लेकर बाथरूम तक की सफाई की जा सकती है। यही नहीं, इससे सब्जी और फलों को धोने के साथ ही सभी तरह के फर्श और इंटीरियर और ऑटोमोबाइल की भी सफाई की जा सकती है।

नेटसर्फ के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि मल्टीपरपज होम क्लीनर 'क्लीन एंड मोर' प्राकृतिक रूप से तैयार किया गया है और इसमें कोई हानिकारक केमिकल नहीं है। इसीलिए यह बच्चों के हाथों में चली जाए तो भी कोई नुकसान नहीं है। 

नेटसर्फ के संस्थापक और प्रबंध निदेशक सुजित जैन ने आईएएनएस से बातचीत में कहा, "'क्लीन एंड मोर' पूरी तरह प्राकृतिक तत्वों से बनाया गया है। इसमें बहुत मामूली केमिकल यूज किया गया है जो हानिकारक नहीं है। उन्होंने कहा कि आज बाजार में ऐसे उत्पादों की भरमार है जिसमें हानिकारक केमिकल मौजूद हैं।" 

जैन ने कहा कि 'क्लीन एंड मोर' एक ऐसा उत्पाद है जिसका उपयोग कर आप अपने घर के बजट में काफी बचत कर सकते हैं क्योंकि इसका उपयोग करने से आपको कई अन्य उत्पाद लेने की जरूरत नहीं होगी। 

उन्होंने कहा कि इससे फर्श, लकड़ी, शीशे और चमड़े के सामान के साथ ही कार, बाइक, टेबल, किचेन के सामान, खिलौने, सामान्य उपकरण, खेल के उपकरण की सफाई की जा सकती है। 

सुजित जैन ने कहा कि नेटसर्फ की शुरुआत 2001 में हुई थी और कंपनी तेजी से विकास कर रही है। शुरुआत के पहले पांच साल में कंपनी का टर्नओवर जहां 48 करोड़ रुपये था वहीं 2017-18 में एक साल में कंपनी का टर्नओवर 176 करोड़ रुपये रहा। कंपनी के विकास के पीछे उन्होंने उत्पाद की गुणवत्ता को कारण बताया। 

उन्होंने कहा कि नेटसर्फ के सभी उत्पादों प्राकृतिक तत्वों से बनाया गया है और इसमें कोई हानिकारक केमिकल का उपयोग नहीं किया जाता, यही वजह है कि लोग इसे पसंद कर रहे हैं। 

जैन ने कहा कि नेटसर्फ ने अबतक 7 कृषि उत्पाद, स्वास्थ्य संबंधी 11 उत्पाद, पर्सनल केयर के 33 उत्पाद और होम केयर के 3 उत्पाद पेश किए हैं। 

भारतीय डायरेक्ट सेलिंग उद्योग का वार्षिक टर्नओवर करीब 10 हजार करोड़ रुपये है। वर्ष 2015-16 में कुल टर्नओवर 8,308 करोड़ रहा। अगले 10 में यह उद्योग 64 हजार करोड़ रुपये होने का अनुमान है। उद्योग की विकास दर 8.42 फीसदी है और इससे 1.8 करोड़ लोगों को प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष रोजगार मिला हुआ है। 

  • Source
  • आईएएनएस

FEATURE

MOST POPULAR