विपक्षी महागठबंधन के पीछे भाजपा असली किंगमेकर : नितिन गडकरी

January 12 2019

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने शनिवार को विपक्ष के महागठबंधन पर निशाना साधा। पार्टी ने कहा कि विपक्षी पार्टियां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 'डर' के कारण साथ आ रही हैं। पार्टी का दावा है कि इस महागठबंधन के पीछे असली किंगमेकर भगवा पार्टी है। 


भाजपा ने दो दिवसीय राष्ट्रीय अधिवेशन के अंतिम दिन यहां कहा कि चाहे कितनी ही विपक्षी पार्टियां महागठबंधन में शामिल हो जाए। आगामी लोकसभा चुनाव में उनकी हार तय है और भाजपा की जीत तय है। 


केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने राजनीतिक प्रस्ताव पेश करते हुए कहा, "जो कभी एक-दूसरे को 'नमस्ते' भी नहीं करते थे, वे साथ आ रहे हैं। वास्तव में हम उनकी दोस्ती के असली किंगमेकर हैं। वे हमारे डर के कारण एक साथ आए हैं। इनका कोई सिद्धांत नहीं है, चाहे भले ही वे महागठबंधन बना रहे हैं। वे अवसरवादी हैं। उनमें कोई शर्म नहीं है। वे, जिनकी हार तय है, हमें हराना चाहते हैं। हम साहसी लोग हैं और उनकी हार सुनिश्चित करेंगे।"


उन्होंने कहा, "चाहे कितनी ही पार्टियां विपक्षी महागठबंधन में शामिल हो जाए, चाहे हमारे खिलाफ कितने ही निराधार आरोप लगा ले, ये वे लोग हैं जो भ्रष्टाचार और जातिवाद की राजनीति में संलिप्त हैं। हम उन्हें हराएंगे।"


गडकरी ने राफेल जेट सौदे को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधने और प्रधानमंत्री के खिलाफ अपशब्दों का इस्तेमाल करने पर कांग्रेस और उसके अध्यक्ष राहुल गांधी को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि विपक्षी पार्टियां भाजपा नेतृत्व वाली सरकार की उपलब्धियों को पचा नहीं पा रहे हैं।


गडकरी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में हमने देश को कई मोर्चो पर बदला है। सामाजिक और आर्थिक समानता हमारी प्रतिबद्धताएं थीं और हमने इन मोर्चो पर काम किया है। अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और अन्य पिछड़े वर्ग की जातियों को मिले आरक्षण में कोई परेशानी खड़े किए बिना हमने उच्च जातियों के गरीबों और आर्थिक रूप से पिछड़ों को 10 प्रतिशत आरक्षण दिया है। 


मंत्री ने तीन तलाक विधेयक का जिक्र करते हुए कहा कि यह 'हमारी मुस्लिम बहनों' के लिए न्याय सुनिश्चित करेगा।


गडकरी ने कहा कि वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) और नोटबंदी मोदी सरकार की बड़ी उपलब्धियां है। उन्होंने पार्टी के कार्यकर्ताओं से मोदी को फिर से प्रधानमंत्री बनाने का संकल्प लेने का आग्रह किया।


  • Source
  • आईएएनएस

FEATURE

MOST POPULAR