पीबीएल-3 में अच्छी शुरुआत मायने रखती है : एच.एस. प्रणॉय

December 23 2017

Download Vishva Times App – Live News, Entertainment, Sports, Politics & More

 प्रीमियर बैडमिंटन लीग (पीबीएल) सीजन-3 में शामिल हुई दो नई टीमों में से एक अहमदाबाद स्मैश मास्टर्स की ओर से सबसे महंगी बोली लगाकर खरीदे गए भारतीय खिलाड़ी एच.एस. प्रणॉय का कहना है कि उनके लिए इस सीजन में अच्छी शुरुआत मायने रखती है।

पीबीएल के सीजन-3 में प्रणॉय को 62 लाख रुपये में अहमदाबाद ने अपनी टीम में शामिल किया है। ऐसे में राजधानी दिल्ली में लीग के लांच समारोह में आईएएनएस से साक्षात्कार के दौरान प्रणॉय ने पीबीएल और अगले साल के व्यस्त कार्यक्रम से जुड़ी कई बातें साझा की। 

लीग के तीसरे सीजन में सबसे महंगे खिलाड़ी होने के कारण अच्छा प्रदर्शन करने पर किसी प्रकार के दबाव के बारे में प्रणॉय ने कहा, "ऐसा होता है कि जब कोई आप पर इस प्रकार का विश्वास दिखाता है, तो आपको थोड़ा दबाव महसूस होता है। हालांकि, जब आप कोर्ट पर उतरते हैं, तो आपको इन चीजों के बारे में अधिक नहीं सोचना होता है।" 

प्रणॉय ने कहा, "पीबीएल में हर प्रतिद्वंद्वी से मुकाबला मुश्किल होगा। ऐसे में मेरे लिए पहला मैच महत्वपूर्ण होगा, क्योंकि यह टूर्नामेंट की शुरुआत होगी। मैं अगर एक बार लय में आ जाता हूं, तो मैं जानता हूं कि मैं अच्छा प्रदर्शन करूंगा।"

इस साल टूर्नामेंट में अपने प्रदर्शन से संतुष्ट होने के बारे में प्रणॉय ने कहा, "यह साल मेरे लिए अच्छा रहा। इस साल मैंने अच्छा प्रदर्शन किया। मुझे ऐसा महसूस हुआ है कि मैं पिछले साल की तुलना में इस साल अपने प्रदर्शन पर अधिक ध्यान केंद्रित कर पाया हूं। आशा है कि मैं अगले साल इससे भी अच्छा प्रदर्शन कर पाऊंगा।"

इस लीग के अलावा करियर के अगले लक्ष्य के बारे में प्रणॉय ने कहा, "अगले साल जैसे आपको पता है कि बहुत व्यस्त रहने वाला है। कई टूर्नामेंट होंगे, जिसमें एशियाई खेल और राष्ट्रमंडल खेल शामिल हैं। अभी तक मैंने कुछ खास योजनाएं नहीं बनाई हैं, लेकिन मेरा लक्ष्य नियमित रूप से अच्छा प्रदर्शन करना है। मुझे हर टूर्नामेंट के क्वार्टर या सेमीफाइनल तक पहुंचना है।"

बकौल प्रणॉय, "ऐसे में हमारे लिए यही विकल्प है कि अगर आप ठीक हैं और शारीरिक रूप से टूर्नामेंट में 100 प्रतिशत देने के लिए तैयार हैं, तो ही खेलना सही है, क्योंकि 50 प्रतिशत की तैयारी के साथ पहले ही राउंड में हारकर बाहर होना सही नहीं। इसके अलावा, किसी भी बड़े टूर्नामेंट से पहले आपको तीन सप्ताह तक तैयारी की जरूरत होती है।"

विश्व रैंकिंग में 10वीं वरीयता प्राप्त प्रणॉय ने कहा, "मैं 10वें स्थान पर पहुंचकर खुश हूं। निश्चित रूप से जब आप खेलना शुरू करते हैं, तो यह आपका लक्ष्य होता है कि आप अच्छा प्रदर्शन करें और शीर्ष-10 खिलाड़ियों की सूची में शामिल हों। मैं खुश हूं और मुझे अभी बहुत कुछ करना है।"

चोटों ने अभी तक प्रणॉय के करियर को काफी प्रभावित किया है। इस कारण कई टूर्नामेंटों में वह हिस्सा नहीं ले पाए। ऐसे में पीबीएल-3 और भविष्य के टूर्नामेंटों में अच्छे प्रदर्शन के लिए तैयारियों के बारे में प्रणॉय ने कहा, "कई बार चोटें लगना आपके हाथ में नहीं होता। पिछले ढाई साल में नियमित रूप से अपने स्वास्थ्य और चोटों की जांच कराता रहा हूं। इसमें मेरे प्रशिक्षकों ने भी मेरा साथ दिया है। मुझे लगता है कि इसने मेरे खेल में काफी बदलाव किया है। इस कारण मैंने यह सीखा है कि अब मुझे काफी संभल कर खेलना है। चोटों से बचा रहूं, इसलिए मैं अपने शरीर को हर प्रकार से हर दिन प्रशिक्षण के लिए सही रखने की कोशिश कर रहा हूं।" 

पीबीएल सीजन-3 का आगाज शनिवार से गुवाहाटी में हो रहा है। इसमें पहला मैच मौजूदा विजेता चेन्नई स्मैशर्स और अवध वॉरियर्स के बीच खेला जाएगा। 

प्रणॉय की टीम अहमदाबाद स्मैश मास्टर्स का पहला मैच 26 अक्टूबर को लीग में शामिल हुई दूसरी नई टीम नॉर्थ ईस्टर्न वॉरियर्स से गुवाहाटी में ही होगा। 

  • Source
  • आईएएनएस

FEATURE

MOST POPULAR