हिमाचल प्रदेश वर्ष 2022 तक पूर्ण प्राकृतिक खेती अपनाने वाला राज्य बनकर उभरेगा : राज्यपाल

May 26 2019

Download Vishva Times App – Live News, Entertainment, Sports, Politics & More

 हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने कहा कि प्रदेश सरकार ने चालू वित्त वर्ष के दौरान लगभग 50 हजार किसानों को प्राकृतिक खेती का प्रशिक्षण प्रदान करने का लक्ष्य रखा है।

उन्होंने प्रदेश में प्राकृतिक खेती की प्रगति पर संतोष व्यक्त किया तथा उम्मीद जताई की वर्ष 2022 तक हिमाचल पूर्ण रूप से प्राकृतिक खेती को अपनाने वाले राज्य के रूप में उभरेगा।


राज्यपाल डॉ. वाई.एस. परमार वानिकी एवं बागवानी विश्वविद्यालय नौणी, जिला सोलन में आज कृषि विभाग द्वारा आयोजित प्राकृतिक कृषि खुशहाल किसान योजना' के अतंर्गत सुभाष पालेकर प्राकृतिक खेती पर आयोजित कार्यशाला के समापन समारोह की अध्यक्षता कर रहे थे।


उन्होंने कहा कि उनके पास रासायनिक तथा जैविक खेती का लगभग 25 वर्षो का व्यावहारिक अनुभव है, लेकिन उन्होंने अंत में प्राकृतिक खेती को चुना क्योंकि यह कई मायनों में लाभदायक सिद्ध हुई है। उन्होंने कहा कि यह हमारे पर्यावरण के संरक्षण, मिट्टी की उर्वरता में सुधार लाने, उत्पादन की लागत में कमी लाने तथा किसानों की आर्थिकी में सुधार में सहायक सिद्ध हुई है।


इससे पूर्व प्रधान सचिव कृषि ओंकार शर्मा ने राज्यपाल का स्वागत किया तथा कहा कि प्रदेश सरकार ने प्राकृतिक खेती को बढ़ावा देने के लिए कई कदम उठाए हैं। प्रदेश सरकार को कृषि के लिए इस पद्धति को अपनाने के बाद इस खेती के लिए 25 करोड़ रुपये के बजट का प्रावधान किया गया था। उन्होंने कहा कि विभाग के प्रयासों के फलस्वरूप पिछले वर्ष 500 किसानों के लक्ष्य के मुकाबले 3000 किसानों को इस योजना के तहत लाया गया। उन्होंने आशा व्यक्त की कि इस वर्ष 50 हजार किसानों के निर्धारित लक्ष्य को प्राप्त कर लिया जाएगा, जिसके लिए प्रदेश में अधिक से अधिक प्रशिक्षण शिविर व कार्यशालाएं आयोजित की जाएंगी।

  • Source
  • आईएएनएस

FEATURE

MOST POPULAR