भारत का वर्णन एक रंग में नहीं हो सकता : महेश भट्ट

November 11 2018

Download Vishva Times App – Live News, Entertainment, Sports, Politics & More

इस बात का जिक्र करते हुए कि भारत के वर्णन को एक रंग में घटाया नहीं जा सकता है, फिल्मकार महेश भट्ट ने शनिवार को कहा कि विविधता से भरपूर इस देश की बहुलता का जश्न मनाया जाना चाहिए। यहां 24वें कोलकाता अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव के उद्घाटन समारोह में भट्ट ने कहा, "हम भारत का वर्णन एक रंग में नहीं कर सकते। यह एक विविधता से भरपूर देश है और हमें इसकी बहुलता का जश्न मनाने की जरूरत है।"

भट्ट ने कहा, "आज की बदलती दुनिया और बदलते वक्त में मेरा मानना है कि फिल्ममेकर और कहानीकार ही दुनिया को एकजुट रख सकते हैं। यह महसूस करने का अवसर है कि हममें से कोई एक हम सभी की तुलना में बहुत कम है।"

भट्ट ने चीनी रहस्यमयी पक्ष के बारे में बातें की, जिसकी एक आंख और एक पंख है, और यह तब तक अधूरा रहता है, जब तक कि वह अपने दूसरे हिस्से से नहीं मिलता। जब उसके दोनों हिस्से साथ मिलते हैं, तभी वह उड़ पाता है और देख पाता है। 

उन्होंने कहा, "यह हिन्दी सिनेमा में हमारे साथ हुआ था। जब बंगाल हमारे पास अपनी बुद्धिमत्ता और संवेदनशीलता के साथ आया, तो मुंबई की फिल्मी दुनिया उत्कर्ष पर पहुंची। इस धारा को और अधिक गहन होना चाहिए, ताकि एक राष्ट्र के रूप में हम सभी रंग को शामिल कर सकें।"

  • Source
  • आईएएनएस

FEATURE

MOST POPULAR