ओला ने राइड शेयरिंग के लिए किया पूर्व सैनिकों से गठजोड़

August 13 2017

इस स्वतंत्रता दिवस पर ओला शेयर के ग्राहकों को ओला सैनिकों के साथ राइड शेयर करने और देश की रक्षा करने वाले इन बहादुर जवानों की वीर गाथाओं को सुनने का अवसर मिलेगा। भारत आजादी के 70 सालों का जश्न मना रहा है। जश्न के इस अवसर पर ट्रांसपोर्टेशन के लिये लोकप्रिय मोबाइल एप ओला ने अपने शेयर ग्राहकों को ओला सैनिकों के साथ राइड करने का अवसर प्रदान किया है। 


यह सैनिक दरअसल देश के एक्स-सर्विसमेन (सेना के पूर्व जवान) हैं, जिन्होंने ओला ड्राइवर-पार्टनर्स के रूप में उद्यमशीलता के एक नये मिशन की जिम्मेदारी उठाई है। 14 अगस्त से 16 अगस्त 2017 के बीच ओला शेयर का विकल्प चुनने वाले ग्राहकों को एक्स-सर्विसमेन के साथ सफर करने और राइड के दौरान उनसे बातचीत करने का मौका मिलेगा।


कंपनी ने एक बयान में कहा कि ओला सैनिक्स 26 शहरों में ओला के राइड शेयरिंग ऑफर के साथ यातायात जाम और ट्रैफिक के खिलाफ देश के बड़े एजेंडा को पूरा करने में एक प्रमुख भूमिका निभा रहे हैं।


ओला के मुख्य कार्यकारी अधिकारी विशाल कौल ने कहा, "मैंने देश के कई एक्स-सर्विसमेन यानी कि ओला सैनिकों के साथ खुद बातचीत की है और उनके पास वाकई में बताने के लिये कई प्रेरणादायक कहानियां हैं। देश के प्रति उनकी सेवा के सम्मान में इस पहल को शुरू कर और यातायात जाम व ट्रैफिक के खिलाफ उनके संघर्ष में सहयोग कर हमें बेहद खुशी हो रही है।"


उन्होंने बताया, "भारत के 70वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर हम अपने ग्राहकों को यह अनूठा अनुभव देने पर हम समान रूप से उत्साहित हैं। इस दौरान हमारे ग्राहकों को उन लोगों के बारे में और अधिक जानने का मौका मिलेगा, जो दिन-रात, चैबीसों घंटे हमारे देश की रक्षा करते हैं। साथ ही उन्हें हमारे शहरों में यातायात की समस्या के खिलाफ जंग जारी रखने में प्रेरणा मिलेगी। ओला शेयर के साथ हम यातायात जाम से आजादी प्राप्त करने के लिये प्रयास कर रहे हैं। इससे प्रत्येक भारतीय की जिंदगी और बेहतर बनेगी।"


गुरमेल सिंह, एक सेवानिवृत सूबेदार हैं। वह इंडियन पीस कीपिंग फोर्स का हिस्सा थे और 2015 से ओला के साथ काम कर रहे हैं। उन्होंने बताया, "मैंने 30 साल सेना में सेवा दी है और एक गौरवान्वित सेवानिवृत अधिकारी हूं। मेरी और मेरे जैसे कई लोगों की जिंदगी का मिशन है देश की हितों की रक्षा करना। यातयात जाम और गाड़ियों के प्रदूषण की समस्या हमारे कई शहरों की एक बड़ी समस्या हैं। नागरिकों को शेयर्ड मोबिलिटी का इस्तेमाल करने के लिये प्रेरित करने से निश्चित रूप से इस समस्या का समाधान करने में मदद मिलेगी। इस संदेश का माध्यम बनने और इस मिशन में शामिल होने से मुझे अपने देश की निरंतर सेवा करने का अवसर मिला है।"

  • Source
  • आईएएनएस

FEATURE

MOST POPULAR