प्रधानमंत्री ने अक्षय पात्र का 3 अरबवां भोजन परोसा

February 12 2019

Download Vishva Times App – Live News, Entertainment, Sports, Politics & More

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को वृंदावन चंद्रोदय मंदिर परिसर में स्कूली बच्चों के बीच अक्षय पात्र फाउंडेशन की ओर से तीन अरबवां भोजन परोसा। 

बेंगलुरू स्थित फाउंडेशन भारत के 12 राज्यों के 14,702 स्कूलों में 17.6 लाख से अधिक बच्चों को पौष्टिक मध्यान्ह भोजन परोसता है। 

मोदी ने अक्षय पात्र फाउंडेशन द्वारा 'तीन अरबवां भोजन' सेवा के उपलक्ष्य में एक स्मारक पट्टिका का अनावरण भी किया। 

इस कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, स्थानीय सांसद हेमा मालिनी, उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री श्रीकांत शर्मा, लक्ष्मी नारायण चौधरी और अनुपमा जायसवाल उपस्थित थीं। 

बाल पोषण, टीकाकरण और स्वच्छता के क्षेत्र में धीमी गति से काम करने के लिए पिछली सरकारों पर हमला बोलते हुए मोदी ने कहा कि अतीत में बहुत सफलता नहीं मिली है। 

पिछले 55 महीनों से केंद्र सरकार बच्चों और माताओं के पोषण और स्वास्थ्य के लिए काम कर रही है।

उन्होंने कहा, "बाल पोषण, टीकाकरण और स्वच्छता की व्यवस्था ऐसे विषय हैं, जिन पर पहले चर्चा नहीं की गई थी। हमने इन सभी पहलुओं पर चर्चा की। कई योजनाएं भी शुरू की गईं, लेकिन अतीत में बहुत सफलता नहीं मिली।" 

उन्होंने यह भी कहा कि इन क्षेत्रों में कम सुविधाओं वाले देश भी भारत से आगे रहे हैं।

उन्होंने कहा, "इस स्थिति को खत्म करने के लिए हम 2014 से टीकाकरण, स्वच्छता और बाल पोषण के क्षेत्र में नई रणनीति के साथ काम कर रहे हैं और इन्हें एक मिशन मोड पर संचालित करने का निर्णय लिया है।" 

मिशन इंद्रधनुष के बारे में उन्होंने कहा कि योजना के शुभारंभ के बाद से तीन करोड़ 40 लाख से अधिक बच्चों और 90 लाख माताओं को टीका लगाया गया था।

उन्होंने कहा कि स्कूलों में भोजन परोसने की अवधारणा -मध्यान्ह भोजन- एक पुरानी अवधारणा है।

उन्होंने कहा, "हम यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि बच्चों को स्वच्छ और पर्याप्त पौष्टिक भोजन मिले।" 

  • Source
  • आईएएनएस

FEATURE

MOST POPULAR