चोटिल होने के बाद रुआंसे हो गए थे मुश्फिकुर रहीम

Fatullah:Fatullah: Bangladeshi cricketer Mushfiqur Rahim during a practice session at Narayanganj Osmani Stadium in Fatullah, Bangladesh on June 8, 2015. (Photo: IANS)

बांग्लादेश के विकेटकीपर बल्लेबाज मुश्फिकुर रहीम ने कहा है कि न्यूजीलैंड के खिलाफ एकदिवसीय श्रृंखला के पहले मैच में चोटिल होने के बाद वह ड्रसिंग रूम में लगभग रोने लगे थे। बांग्लादेश की टेस्ट टीम के कप्तान रहीम को क्राइस्टचर्च में खेले गए पहले मैच में मांसपेशियों में खिंचाव हो गया था। इसी कारण वह पिछले महीने खेली गई इस श्रृंखला के बाकी मैच नहीं खेल पाए थे। रहीम जब 42 रन पर थे, तभी उन्हें रन लेते समय दर्द हुआ। थोड़ी देर बाद वह मैदान पर गिर पड़े थे।

चोट के बाद टीम में वापसी पर रहीम ने बुधवार को कहा, “विकेट गिरते हुए देखकर मुझे लग रहा था कि मैंने कुछ खो दिया है। मैं ड्रेंसिंग रूम में आकर लगभग रोने लगा।”

उन्होंने कहा, “जो खिलाड़ी इन देशों में अच्छा खेलता है, उसे अलग तरीके से आंका जाता है। मैंने अपने आप को इस माहौल में खेलने के लिए ढाला है, लेकिन दुर्भाग्यवश ऐसा न हो सका।”

बांग्लादेश के बल्लेबाज न्यूजीलैंड में लगातार विफल हो रहे थे, तब रहीम को हर कोई याद कर रहा था। रहीम टीम के मध्यक्रम की रीढ़ की हड्डी माने जाते हैं। बांग्लादेश को श्रृंखला में 3-0 से हार मिली थी।

टेस्ट टीम के कप्तान ने उम्मीद जताई है कि बल्लेबाज अपनी गलतियों से सीखेंगे।

उन्होंने कहा, “ऐसी विकेट पर अगर बल्लेबाजों ने थोड़ी सी प्रतिबद्धता दिखाई होती तो यह उन सभी के लिए बड़ा मौका था। चाहे वो तमीम इकबाल, शाकिब अल हसन, महमुदुल्लाह, इमरुल कयास, सौम्य सरकार हों.. कोई भी हो..सभी के लिए यह बड़ा मौका था।”