सुषमा ने जमैका में मृत भारतीय के परिवार को दिया मदद का भरोसा

New Delhi: External Affairs Minister Sushma Swaraj arrives at the Parliament in New Delhi, on Feb 29, 2016. (Photo: Amlan Paliwal/IANS)

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने शनिवार को जमैका में लुटेरों की गोली से मारे गए एक भारतीय नागरिक के परिवार को मदद का आश्वसान दिया। इसी सप्ताह की शुरुआत में जमैका की राजधानी किंग्स्टन में भारतीय नागरिक राकेश तलरेजा के घर में घुसकर लुटेरों ने लूटपाट की और गोली मारकर राकेश हत्या कर दी।

सुषमा ने शनिवार को ट्वीट किया, “तलरेजा परिवार के साथ हुई घटना के बारे में सुनकर मैं बेहद दुखी हूं। मेरी सांत्वना आपके साथ है।”

विदेश मंत्री ने कहा, “जमैका में भारतीय उच्चायोग इस मामले की जांच करेगा और हर प्रकार से आपकी सहायता करेगा।”

मीडिया में आई खबरों के अनुसार, 25 वर्षीय राकेश महाराष्ट्र के वसई के रहने वाले हैं। गुरुवार की शाम हथियारों से लैस कुछ लुटेरे अचानक किंग्स्टन स्थित उनके घर में घुस गए। राकेश दो अन्य भारतीय नागरिकों के साथ इस घर में रह रहे थे।

लुटेरों ने बंदूक की नोक पर पहले राकेश के साथियों से उनके फोन और नकदी लूट ली। उसके बाद वे इमारत के प्रथम तल पर स्थित राकेश के कमरे में घुसे।

राकेश से उसका फोन छीनने के बाद लुटेरों ने उनकी पीठ में तीन गोलियां मारीं। घर से फरार होने से पहले लुटेरों ने घर के अन्य सदस्यों पर भी गोलियां चलाईं।

लुटेरों को फरार होने के बाद राकेश को तत्काल अस्पताल ले जाया गया, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। घर के दो अन्य सदस्यों के पैर में गोलियां लगी हैं और अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है।

राकेश किंग्स्टन में गहनों की एक दुकान पर काम करते थे। दुकान का मालिक अपने कर्मचारियों को रोजाना वेतन देता था।

सुषमा ने भारतीय उच्चायोग से घटना की पूरी जानकारी मांगी है और उच्चायोग को घायल भारतीय नागरिकों के इलाज में हर प्रकार की मदद करने और प्रभावित परिवारों की मदद के लिए भी कहा है।