कम उम्र के चलते राष्ट्रमंडल खेलों में हिस्सा नहीं ले पाया : अक्षय नैन | Vishvatimes

कम उम्र के चलते राष्ट्रमंडल खेलों में हिस्सा नहीं ले पाया : अक्षय नैन

May 09 2018

Download Vishva Times App – Live News, Entertainment, Sports, Politics & More

युवा एशियाई खेलों में कांस्य पदक जीतने वाले भारतीय एथलीट अक्षय नैन कहा है कि गोल्ड कोस्ट राष्ट्रमंडल खेलों के लिए उन्होंने पूरी तैयारी कर रखी थी लेकिन उम्र कुछ महीने कम होने के कारण वह इसमें भाग नहीं ले सके। 

17 साल के युवा एथलीट अक्षय ने जून 2017 में बैंकॉक में 400 मीटर दौड़ में कांस्य पदक अपने नाम किया था। इसके अलावा उन्होंने गुरिंदरवीर सिंह, पालेंद्र कुमार, मनीष के साथ मिलकर मिडले रिले टीम स्पर्धा में भारत को स्वर्ण पदक दिलाया था। भारत ने स्वर्ण के अलावा चैंपियनशिप में पांच रजत और चार कांस्य पदक भी जीते थे। 

अक्षय ने आईएएनएस से एक साक्षात्कार में कहा, " राष्ट्रमंडल खेलों के लिए मैंने पूरी तैयारी कर रखी थी। मैं अपने कोच के साथ नियमित ट्रेनिंग ले रहा था। लेकिन उम्र में कुछ महीने कम होने के कारण मैं ट्रायल में हिस्सा नहीं ले सका था।" 

अक्षय ने पिछले साल जुलाई में केन्या के नैरोबी में हुई विश्व चैंपियनशिप में भी भारतीय टीम के सदस्य थे। इसके अलावा उन्होंने बहामास में हुए युवा राष्ट्रमंडल खेलों में भी भाग लिया था जहां उन्होंने 400 मीटर में 46.91 सेकेंड और 200 मीटर में 21.05 सेकेंड का सर्वश्रेष्ठ समय निकाला था। 

उन्होंेने कहा, "अब मेरा अगला लक्ष्य विश्व चैंपियनशिप और एशियाई खेल हैं जहां मैं अपने पिछले प्रदर्शन से भी अच्छा करना चाहता हूं। इसके लिए मैं अपने कोच अरविंद कपूर की देखरेख में कड़ी मेहनत कर रहा हूं।" 

अक्षय उन 28 युवाओं में शामिल हैं जिन्हें गेल ने नेशनल युवा कोपोरेर्टिव सोसायटी (एनवाईसीएस) के साथ मिलकर 2020 और 2024 मिशन ओलम्पिक के लिए ट्रायल के बाद चुना है। गेल और एनवाईसीएस इन एथलीटों को अब आगे की ट्रेनिंग के लिए स्कॉलरशिप प्रदान कर रही है। 

अक्षय इस समय दिल्ली विश्वविद्यालय में एसजीबीटी खालसा कॉलेज से स्नातक की पढ़ाई कर रहे हैं और वह अभी प्रथम वर्ष में हैं। अक्षय को खेलों में आगे अपना करियर बनाने के लिए गेल इंडिया लिमिटेड मदद कर रहा है। 

युवा एथलीट ने कहा, "बचपन से ही मेरी रूचि खेलों में रही है। अभी मेरा पूरा ध्यान अपने खेलों पर लगा हुआ है, जिसका मैं पूरा आनंद ले रहा हूं। मुझे इससे संतुष्टि मिलती है। मैं गेल का शुक्रिया अदा करना चाहता हूं जिनके सहयोग से मैं खेलों में आगे बढ़ रहा हूं। मुझे पूरा विश्वास है कि इनकी मदद से मैं जरूर अपने सपनों को पूरा करूंगा।" 

FEATURE

MOST POPULAR