पिछले 15 साल में भारत ने चांद पर तिरंगा लहरा दिया, लेकिन राहुल गांधी सिर पर बोझा ही ढो रहे हैं : भाजपा

October 11 2023

टेलीग्राम पर हमें फॉलो करें ! रोज पाएं मनोरंजन, जीवनशैली, खेल और व्यापार पर 10 - 12 महत्वपूर्ण अपडेट।

हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़ें https://t.me/vishvatimeshindi1

चैनल से जुड़ने से पहले टेलीग्राम ऐप डाउनलोड करे

कांग्रेस नेता राहुल गांधी के खिलाफ भाजपा का आक्रामक अभियान बुधवार को भी जारी रहा। भाजपा ने बुधवार को अपने आधिकारिक सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर एक बार फिर राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कटाक्ष किया कि पिछले 15 वर्षों में भारत ने चांद पर तिरंगा लहरा दिया, लेकिन राहुल गांधी अभी भी सिर पर बोझा ही ढो रहे हैं।

भाजपा ने इसे राहुल गांधी की चुनावी नौटंकी भी करार दे दिया।

भाजपा ने पिछले 15 वर्षों के दौरान के राहुल गांधी के कई वीडियो को एक साथ जोड़कर 2 मिनट 8 सेकेन्ड का एक वीडियो सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर शेयर किया जिसमें 15 वर्ष पहले राहुल गांधी द्वारा सिर पर मिट्टी ढ़ोते हुए और वर्ष 2023 में कुली की ड्रेस में सूटकेस ढोते हुए जैसे कई वीडियो दिखाया गया है। साथ ही भाजपी ने कहा है कि पिछले डेढ़ दशक में भारत ने धरती से चांद तक का सफर पूरा कर लिया, दुनिया की पांचवी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया, लेकिन कांग्रेस के राहुल गांधी मिट्टी ढोने से सूटकेस ढोने तक का ही सफर तय कर पाए।

भाजपा ने यह भी आरोप लगाया कि राहुल गांधी के पास न तो विजन है और न ही नेतृत्व करने की क्षमता।

राहुल गांधी पर कटाक्ष करते हुए वीडियो में यह भी कहा गया है कि, "राहुल गांधी के जीवन में चार ही सत्य हैं - चुनावी नौटंकी, चुनाव में करारी हार, विदेशों में छुट्टी और फिर से लॉन्चिंग। 2014 और 2019 में नौटंकी करने और जीत के बड़े-बड़े दावे के बाद भी कांग्रेस को हार का सामना करना पड़ा और 2023 में भी राहुल गांधी कुली, मैकेनिक और बढई बने हुए हैं। ऐसा लगता है कि राहुल गांधी 2034 के लोक सभा चुनाव से पहले भी यही करते नजर आएंगे।"

वीडियो के साथ ही भाजपा ने राहुल गांधी पर कटाक्ष करते हुए यह भी कहा, "पिछले 15 वर्षों में भारत ने चांद पर तिरंगा लहरा दिया, लेकिन राहुल गांधी अभी सिर पर बोझा ही ढो रहे हैं और कांग्रेसी चाटुकार उनकी इस चुनावी नौटंकी पर तालियां बजा रहे हैं।"



D
ownload Vishva Times App – Live News, Entertainment, Sports, Politics & More

  • Source
  • आईएएनएस

FEATURE

MOST POPULAR