मोटर रेसिंग में खुद की पहचान बनाना आसान नहीं रहा : गरिमा अवतार

April 10 2021

टेलीग्राम पर हमें फॉलो करें ! रोज पाएं मनोरंजन, जीवनशैली, खेल और व्यापार पर 10 - 12 महत्वपूर्ण अपडेट।

हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़ें https://t.me/vishvatimeshindi1

चैनल से जुड़ने से पहले टेलीग्राम ऐप डाउनलोड करे

भारत की महिला मोटर रेसर गरिमा अवतार का कहना है कि चूंकी भारत में मोटर रेसिंग हमेश से पुरुष प्रधान खेल रहा है, लिहाजा उनके लिए इस खेल में खुद की पहचान बनाना काफी कठिन रहा।


गरिमा भारत की शीर्ष महिला मोटर रेसर हैं। वह एक रेसर होने के साथ-साथ डेलटॉन केबल्स की वाइस प्रेसिडेंट भी हैं। गरिमा को 2013 में सर्वश्रेष्ठ महिला ड्राइवर का अवॉर्ड दिया गया था।


मोटर रेसिंग आमतौर पर पुरुषों का खेल माना जाता है, ऐसे में गरिमा ने इस फील्ड में अपनी खुद की एक अलग पहचान बनाई। उन्होंने कहा कि उनके लिए यह सफर आसान नहीं था लेकिन उनकी लगन के कारण वह ऐसा करने में सफल रहीं।


मर्सिडीज टीम ऑफ प्रोफेशनल ड्राइवर का हिस्सा रह चुकीं गरिमा ने आईएएनएस से खास बातचीत में कहा, "जब मैंने ड्राइविंग शुरू की तो मैंने रैली, फॉर्मुला रेसिंग या मोटर स्पोटर्स के बारे में इससे पहले सुना भी नहीं था। मेरे दोस्त या परिवार से से कोई इस खेल से जुड़ा भी नहीं था।"


उन्होंने कहा, "मेरे लिए यह पूरी तरह अंजान था और शायद ही कोई महिला इसमें हिस्सा लेती थी। मेरे लिए मेंटर खोजना भी मुश्किल था। इसके बाद मुझे लगा कि मोटर रेसर बनने के लिए बड़ी मायने में वित्तीय समर्थन की जरूरत पड़ती है।"


गरिमा ने कहा, "जब मैंने पहले रेस में हिस्सा लिया तो मेरी इसमें रूचि जागी और धीरे-धीरे मैंने अपना करियर बढ़ाया। मेरे लिए इतना आसान नहीं था। इसके बाद मैंने करियर में कई ट्रॉफी भी जीती। ट्रेनिंग के बाद मैंने इंटरनेशल रैली में हिस्सा लिया और एक्ट्रीम रैली में भाग लिया, जहां स्पीड काउंट होती है।"


महिला रेसर ने कहा, "मेरा मानना है कि आपको हमेशा ट्रैक पर खुद को साबित करना होता है जिसके लिए लगातार तैयार रहने की जरूरत है। पिछले साल लॉकडाउन से ठीक पहले मैंने ट्रेनिंग ली थी, जहां मैंने एडवांस ड्राइविंग की ट्रेनिंग ली।"


गरिमा सेलीब्रिटी कॉमर्स के क्षेत्र में एशिया के सबसे बड़े प्लेटफॉर्म-गोनट्स के माध्यम से अपने चाहने वालों तक पहुंचती हैं। गोनट्स के साथ जो उनकी साझेदारी है, उसके तहत उनके चाहने वाले अलग-अलग तरह के मैसेजेज का रिक्वेस्ट कर सकते हैं, जिनमें बर्थडे से लेकर एनिवर्सरी और पूरे परिवार के लिए फेस्टिव ग्रीटिंग्स के अलावा और भी बहुत कुछ शामिल है।


गोनट्स का पोर्टफोलियो काफी व्यापक है। इस प्लेटफार्म पर फिल्म, टेलीविजन, खेल एवं संगीत के अलावा दूसरे फील्ड्स के 700 से अधिक सेलीब्रिटीज हैं। इससे यूजर्स को अपने खास लोगों के लिए खास पलों पर पर्सनलाइज्ड मैसेजेज देने की आजादी मिलती है।


बहरहाल, गरिमा ने नौकरी और खेल करियर में संतुलन को लेकर कहा कि कि चूंकी उन पर बेटी की जिम्मेदारी है, लिहाजा वह नौकरी और खेल के बीच संतुलन बना लेती हैं।


गरिमा ने कहा, "मैंने अपनी जीवन में कई झटके झेले हैं और मेरे ऊपर अपनी और मेरी बेटी की जिम्मेदारी है। लेकिन एक महिला होने के नाते मैं नौकरी और खेल के बीच संतुलन बनालेती हूं। मुझे पता है कि इसके लिए मुझे कई त्याग करने है। करियर में कई चुनौतियां आती हैं। इसके बावजूद मैं आगे बढ़ती हूं क्योंकि मेरा मानना है कि उम्मीद नहीं खोनी चाहिए और आगे बढ़ते रहना चाहिए।"


गरिमा ने कहा, "सभी के लिए सफलता की परिभाषा अलग होती है और मेरे लिए यह यात्रा काफी मायने रखती है। नेल्सन मंडेला ने भी कहा है कि आप किसी को उसकी सफलता से नहीं पहचाने बल्कि यह देखें कि वह कितनी बार गिरकर वापस उठा है।"


Download Vishva Times App – Live News, Entertainment, Sports, Politics & More

  • Source
  • आईएएनएस

FEATURE

MOST POPULAR