कर्नाटक में कॉलेज, स्कूली छात्रों का होगा रैंडम कोविड टेस्ट

December 04 2021

टेलीग्राम पर हमें फॉलो करें ! रोज पाएं मनोरंजन, जीवनशैली, खेल और व्यापार पर 10 - 12 महत्वपूर्ण अपडेट।

हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़ें https://t.me/vishvatimeshindi1

चैनल से जुड़ने से पहले टेलीग्राम ऐप डाउनलोड करे

कर्नाटक सरकार ने नए कोविड वैरिएंट ओमिक्रॉन का पता चलने के बाद अपने संशोधित प्रोटोकॉल में अधिकारियों को कॉलेज के छात्रों और स्कूली बच्चों पर 15 दिनों में एक बार रैंडम कोविड टेस्ट करने का निर्देश दिया है। सरकार ने अपने आदेश में जिला स्तर पर 1 लाख टेस्ट कराने की सिफारिश की है। इसमें कहा गया है, "कॉलेजों, हाई स्कूलों में छात्रों और शिक्षकों के लिए रैंडम टेस्ट कराए जाने चाहिए।"

सर्कुलक में कहा गया है कि कोई भी छात्र जिसमें कोविड के लक्षण दिखाई देंगे, उसे आइसोलेट किया जाएगा और रैपिड एंटीजन टेस्ट से गुजरना होगा। यदि रिपोर्ट निगेटिव है, तो उनका आईसीएमआर के दिशानिर्देशों के अनुसार, आरटी-पीसीआर टेस्ट किया जाना चाहिए।

यह भी निर्देश दिया गया है, कुल टेस्टों में से 30 प्रतिशत रैपिड एंटीजन और 70 प्रतिशत आरटी-पीसीआर होना चाहिए। छात्र समुदाय के साथ-साथ सभी हेल्थ वर्कर, वृद्ध, बीमार, पैरामेडिक्स और नसिर्ंग कॉलेज के कर्मचारियों और छात्रों को कोविड टेस्ट से गुजरना होगा।

होटल और रेस्तरां के कर्मचारी, मॉल के दुकानदार, बाजार, रसोइयां, डिलीवरी स्टाफ, औद्योगिक कर्मचारी, कार्यालय के कर्मचारी, पब और बार के कर्मचारी, मॉल, सिनेमा हॉल में परिचारक, भीड़ में रहने वाले और आंगनवाड़ी केंद्रों के कार्यकर्ता को भी 15 दिनों में एक बार रैंडम टेस्ट कराना होगा।




D
ownload Vishva Times App – Live News, Entertainment, Sports, Politics & More

  • Source
  • आईएएनएस

FEATURE

MOST POPULAR