अमीरात बोर्ड ने मई में ही शुरू कर दी थी आईपीएल की तैयारी : ईसीबी सचिव

November 05 2020

टेलीग्राम पर हमें फॉलो करें ! रोज पाएं मनोरंजन, जीवनशैली, खेल और व्यापार पर 10 - 12 महत्वपूर्ण अपडेट।

हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़ें https://t.me/vishvatimeshindi1

चैनल से जुड़ने से पहले टेलीग्राम ऐप डाउनलोड करे

अमीरात क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) ने मई में यह साफ होने के बाद कि आईपीएल-13 इस बार कोविड-19 और लॉकडाउन के चलते भारत में आयोजित नहीं हो पाएगा, लीग के आयोजन की तैयारियां शुरू कर दी थीं। ईसीबी के सचिव मुबासीर उस्मानी ने आईएएनएस को दिए इंटरव्यू में यह जानकारी दी।


बॉम्बे यूनिवर्सिटी से कॉमर्स ग्रैजूएट उस्मानी ने बीसीसीआई, संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) सरकार और स्थानीय अधिकारियों का अबू धाबी, दुबई और शारजाह में लीग के सफल आयोजन का श्रेय दिया है।


आईएएनएस को दिए इंटरव्यू में उस्मानी ने बताया कि आईपीएल यूएई कैसे आया। आईपीएल का मौजूदा सीजन 10 नवंबर को खत्म हो रहा है।


पेश हैं इंटरव्यू के कुछ अंश :


सवाल : बीसीसीआई और ईसीबी के बीच मेजबानी को लेकर जो एमओयू साइन किया गया था, उसमें क्या था, क्या इसका मतलब था कि भारतीय टीम (बाकी की टीमें भी) यूएई में लगातार मैच खेलेंगी?


जवाब : हम आईपीएल से पहले बीसीसीसीआई सचिव जय शाह और ईसीबी उपाध्यक्ष खालिद अल जूरानी द्वारा हस्ताक्षरित करार से काफी खुश हैं। इस समय हम इस स्थिति में नहीं हैं कि इसकी तह में जा सकें, लेकिन मैं इतना कह सकता हूं कि इस आने वाले मौकों के लिए तैयार हैं और बीसीसीआई तथा ईसीबी के बीच संबंध और मजबूत होंगे।


सवाल : पहेली के सभी पहलू लगता है कि अपनी जगह सही बैठ गए हैं?


जवाब : बीसीसीआई, हमारे बोर्ड, आईपीएल, यूएई के अधिकारियों, कई समितियों ने, लोगों ने मिलकर भरसक प्रयास किया था कि आईपीएल की शुरुआत आसानी से हो जाए। हम हर एक इंसान के शुक्रगुजार हैं, जिसने इसमें मदद की। हम परिणाम से काफी खुश हैं।


सवाल : हर कोई जानता है कि आईपीएल इस साल होगा या नहीं, इस पर कोविड-19 ने सवालिया निशान लगा दिया था, तब भी जब बीसीसीआई ने इसे यूएई में स्थानांतरित कर दिया था। ईसीबी के पास यूएई में आईपीएल की मेजबानी करने का अनुभव था। 2014 में आईपीएल का आयोजन यूएई में किया गया था और तब कोविड नहीं था। इस बार ईसीबी को क्या परेशानियां आईं?


जवाब : हम भाग्यशाली थे कि हमें जो एक समस्या कोविड-19 के चलते प्रभावी प्रबंधन की आई थी उसे हमने, बीसीसीआई, यूएई के आधिकारियों और चिन्हित विशेषज्ञों ने मिलकर सुलझा लिया।


सवाल : अमीरात में कोविड के मामलों की बढ़ती संख्या खासकर दुबई में, को देखते हुए ईसीबी के लिए यूएई की सरकार से मंजूरी लेना कितना मुश्किल था।


जवाब : हमने सरकार के अलग-अलग विभागों के साथ काम किया, जिसमें अबू धाबी, दुबई, शारजाह खेल परिषद, यूएई मंत्रालय, आधिकारियों के साथ मई से काम करना शुरू कर दिया था। हमने बीसीसीआई से आईपीएल की मेजबानी की इच्छा जाहिर की थी। हमें उनसे समर्थन मिला था और आगे भी मिलता रहेगा।


सवाल : मुझे पता चला कि यूएई सरकार ने केंद्र और स्थानीय सरकारों ने भी आईपीएल के कारण कोविड प्रोटोकॉल्स में कुछ नरमी बरती गई थी, ताकि टूर्नामेंट आगे बढ़ सके। आपकी टिप्पणी।


जवाब : कोविड-19 को लेकर प्रोटोकॉल्स बीसीसीआई और उनके स्वास्थ विशेषज्ञों ने बनाए थे, जिन्हें यूएई के अलग-अलग अधिकारियों से बात कर अंतिम रूप दिया गया था। हम इसके बारे में विस्तार से नहीं बता सकते। हम यूएई की सरकार का समर्थन के लिए शुक्रगुजार हैं।


सवाल : आईपीएल के शुरू होने से पहले चेन्नई सुपर किंग्स में कई कोविड-19 मामले आए थे। इसे लेकर ईसीबी में क्या भावना थी और इससे बाहर निकलने में ईसीबी ने क्या रोल निभाया।


जवाब : जो कुल मामले थे, उनमें से बिना लक्षण के पॉजिटिव मामले कम थे, जिन्हें आसानी से संभाल लिया गया। टीम के पूरे समूह को तभी इकट्ठा होने दिया गया। कोविड के सभी नियमों का सख्ती से पालन किया गया और सभी लोग निगेटिव निकले। आईपीएल अपने समय पर शुरू हुआ।


Download Vishva Times App – Live News, Entertainment, Sports, Politics & More

  • Source
  • आईएएनएस

FEATURE

MOST POPULAR