इलेक्ट्रिक कारों के विनिर्माण के लिए इंडोनेशिया का रुख करेंगे मस्क

May 17 2022

टेलीग्राम पर हमें फॉलो करें ! रोज पाएं मनोरंजन, जीवनशैली, खेल और व्यापार पर 10 - 12 महत्वपूर्ण अपडेट।

हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़ें https://t.me/vishvatimeshindi1

चैनल से जुड़ने से पहले टेलीग्राम ऐप डाउनलोड करे

टेस्ला और स्पेसएक्स के सीईओ एलन मस्क ने इलेक्ट्रिक कारों के भारत में विनिर्माण की अटकलों को खारिज कर दिया है और उन्होंने अब इस साल नवंबर में इंडोनेशिया का दौरा करने का फैसला किया है। इंडोनेशिया सरकार चाहती है कि मस्क वहां एक विश्व स्तरीय इलेक्ट्रिक बैटरी उद्योग स्थापित करें क्योंकि देश में निकल का विशाल भंडार है।


इंडोनेशियाई राष्ट्रपति जोको 'जोकोवी' विडोडो ने पिछले सप्ताहांत में टेक्सास के बोका चीका में स्टारबेस, स्पेसएक्स की रॉकेट उत्पादन सुविधा, परीक्षण स्थल और स्पेसपोर्ट में मस्क से मुलाकात की और उन्हें इंडोनेशिया आने के लिए आमंत्रित किया था।


जकार्ता ग्लोब के अनुसार, मस्क ने स्वीकार किया कि वह इंडोनेशिया के भविष्य में बहुत रुचि रखते हैं, और उन्हें लगता है कि टेस्ला और स्पेसएक्स के साथ कुछ सहयोग के लिए वहां 'महान क्षमता' है।


रिपोर्ट में कहा गया है, "मस्क ने इंडोनेशिया की बड़ी आबादी और लगातार आर्थिक विकास का भी उल्लेख किया है, जो उन्हें दक्षिणपूर्व एशिया में सबसे अधिक आबादी वाले देश में रुचि को दर्शाता है।"


टेस्ला अपनी इलेक्ट्रिक वाहन बैटरी के लिए निकल की सोर्सिग में आक्रामक रही है।


इस बीच, भारत के मंत्री, विशेष रूप से केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी, टेस्ला के सीईओ से भारत में इलेक्ट्रिक कारों के विनिर्माण के लिए अनुरोध करते रहते हैं।


तेलंगाना के उद्योग मंत्री केटी रामाराव से लेकर महाराष्ट्र के मंत्री और राज्य राकांपा अध्यक्ष जयंत पाटिल तक, कई भारतीय नेताओं ने मस्क से टेस्ला को भारत लाने की बार-बार अपील की, लेकिन कोई असर नहीं हुआ।


मस्क ने कहा था कि उन्हें भारत में अपने उत्पादों को जारी करने के लिए सरकार से चुनौतियों का सामना करना पड़ा।


वर्तमान में, भारत 40,000 डॉलर (30 लाख रुपये) से अधिक कीमत वाली आयातित कारों पर 100 फीसदी कर लगाता है। इसमें बीमा और शिपिंग खर्च शामिल हैं, जबकि 40,000 डॉलर से कम की कारों पर 60 फीसदी आयात कर लगता है।


40,000 डॉलर (30 लाख रुपये से अधिक) मूल्य टैग के साथ, टेस्ला मॉडल 3 अमेरिका में एक किफायती मॉडल के रूप में रह सकता है, लेकिन आयात शुल्क के साथ, यह भारतीय बाजार में लगभग 60 लाख रुपये के अनुमानित मूल्य टैग के साथ अनुपलब्ध हो जाएगा।


इस बीच, पिछले साल भारत में नियुक्त मस्क टीम को अब मध्य-पूर्व और बड़े एशिया-प्रशांत बाजारों पर ध्यान केंद्रित करने के लिए मोड़ दिया गया है।


भारत में टेस्ला के सुपरचार्जर नेटवर्क की स्थापना के प्रभारी निशांत प्रसाद ने अपने लिंक्डइन प्रोफाइल को चार्जिग ऑपरेशंस लीड-एपीएसी में अपडेट किया है।


Download Vishva Times App – Live News, Entertainment, Sports, Politics & More

  • Source
  • आईएएनएस

FEATURE

MOST POPULAR