ऑटो शेयरों में बढ़त से निफ्टी फिर से 20 हजार के पार

November 29 2023

टेलीग्राम पर हमें फॉलो करें ! रोज पाएं मनोरंजन, जीवनशैली, खेल और व्यापार पर 10 - 12 महत्वपूर्ण अपडेट।

हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़ें https://t.me/vishvatimeshindi1

चैनल से जुड़ने से पहले टेलीग्राम ऐप डाउनलोड करे

भारतीय बाजारों में एफआईआई के खरीoदार बनने के बाद निफ्टी ने बुधवार को 20,000 का आंकड़ा फिर से हासिल कर लिया। बुधवार को निफ्टी 148 अंक ऊपर 20,038 अंक पर है। हीरो मोटोकॉर्प में 4 फीसदी, एमएंडएम में 2 फीसदी तेजी है।

प्रभुदास लीलाधर में तकनीकी अनुसंधान की वाइस प्रेसिडेंट वैशाली पारेख ने कहा कि निफ्टी ने आखिरकार 19,850 क्षेत्र के कठिन प्रतिरोध अवरोध के ऊपर एक ब्रेकआउट का संकेत दिया है और आने वाले दिनों में 20,200 के स्तर के पिछले शिखर क्षेत्र को फिर से प्राप्त करने की उम्मीद है।

सूचकांक का अगला लक्ष्य 20,000 का स्तर और उसके बाद 20,222 का स्तर है, साथ ही 19,800-19,850 क्षेत्र को मौजूदा स्तरों से महत्वपूर्ण समर्थन क्षेत्र के रूप में बनाए रखा गया है। दिन के लिए समर्थन 19,800 पर देखा गया है जबकि प्रतिरोध 20,000 पर देखा गया है।

बाजार में अब निचले दर्जे के शेयरों पर खूब जुआ खेला जा रहा है। जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के मुख्य निवेश रणनीतिकार वी.के. विजयकुमार ने कहा कि इससे बचना चाहिए।

निवेशकों को निवेश के दिग्गज चार्ली मुंगर के ज्ञान से सीख लेनी चाहिए जिनका मंगलवार को निधन हो गया। मुंगर ने निवेशकों को सलाह दी थी : "जुआरी मत बनो, धैर्यवान निवेशक बनो।"

निवेशकों को उचित कीमत वाले गुणवत्ता वाले स्टॉक खरीदने चाहिए और धैर्यपूर्वक इंतजार करना चाहिए। विजयकुमार ने कहा कि धैर्यवान निवेशकों के लिए लार्जकैप बैंकिंग, आईटी और ऑटो में मूल्य है।

राज्य चुनाव नतीजे आने के बाद बाजार में बड़ी तेजी आने की संभावना है। उन्होंने कहा, शायद गुरुवार शाम को आए एग्जिट पोल से कुछ सुराग मिल सकता है।

चूंकि वैश्विक बाजार की पृष्ठभूमि लगातार अनुकूल बनी हुई है, इसलिए भारत में तेजी जारी रहने की संभावना है।

अमेरिका में 10 साल की बॉन्ड यील्ड 4.3 फीसदी और डॉलर इंडेक्स का 103 से नीचे गिरना इक्विटी बाजारों के लिए सकारात्मक है। उन्होंने कहा कि एफआईआई बदली हुई वास्तविकता को देखते हुए खरीदार बन गए हैं।


Download Vishva Times App – Live News, Entertainment, Sports, Politics & More 

  • Source
  • आईएएनएस

FEATURE

MOST POPULAR