प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, शीर्ष केंद्रीय मंत्रियों, यूपी सीएम ने 'भारतीय संगीत के प्रतीक' के निधन पर शोक जताया

February 27 2024

टेलीग्राम पर हमें फॉलो करें ! रोज पाएं मनोरंजन, जीवनशैली, खेल और व्यापार पर 10 - 12 महत्वपूर्ण अपडेट।

हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़ें https://t.me/vishvatimeshindi1

चैनल से जुड़ने से पहले टेलीग्राम ऐप डाउनलोड करे

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को गजल गायक पंकज उधास के निधन पर शोक प्रकट किया और उन्हें 'भारतीय संगीत का प्रकाश स्तंभ' बताया।

दिवंगत आत्मा को श्रद्धांजलि देते हुए पीएम ने कहा कि पंकज उधास का निधन संगीत जगत में एक खालीपन छोड़ गया है जिसे कभी नहीं भरा जा सकता।

पीएम मोदी ने पंकज उधास के साथ तस्वीरें साझा कीं, और एक्स पर लिखा : "हम पंकज उधास जी के निधन पर शोकाकुल हैं, जिनकी गायकी ने कई तरह की भावनाओं को व्यक्त किया और जिनकी ग़ज़लें सीधे आत्मा से बात करती थीं। वह भारतीय संगीत के एक प्रतीक थे, जिनकी धुनें सर्वव्यापी थीं।"

"मुझे पिछले कुछ वर्षों में उनके साथ हुई अपनी विभिन्न बातचीत याद है। उनके जाने से संगीत जगत में एक खालीपन आ गया है, जिसे कभी नहीं भरा जा सकता। उनके परिवार और प्रशंसकों के प्रति संवेदना। ओम शांति।"

दिलचस्प बात यह है कि पंजकाज उधास का परिवार राजकोट से है और वह इसी शहर में पले-बढ़े हैं और पीएम मोदी ने 2002 में यहीं से अपनी पहली चुनावी जीत का जश्‍न मनाया था।

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने लिखा, "पंकज उधास ने अपनी मधुर आवाज से कई पीढ़ियों को मंत्रमुग्ध किया। उनकी ग़ज़लों और गीतों ने हर उम्र और वर्ग के लोगों के दिलों को छुआ।"

"आज उनके चले जाने से संगीत की दुनिया में एक बड़ी रिक्तता आई है, जिसका लंबा समय तक भर पाना मुश्किल है। वो अपने गीतों और ग़ज़लों के माध्यम से हमेशा हमारे बीच रहेंगे। मैं शोककुल परिजनों और उनके प्रशंसकों के प्रति गहरी संवेदना प्रकट करता हूं।"

"पंकज उधास जी ने अपनी सुरीली आवाज़ से कई पीढ़ियों को मंत्रमुग्ध किया। उनकी ग़ज़लें और गीत हर उम्र और वर्ग के लोगों के दिलों को छूते थे। आज उनके निधन से संगीत की दुनिया में एक बड़ा खालीपन आ गया है, जिसे भर पाना बहुत मुश्किल होगा। वह अपने गीतों और ग़ज़लों के माध्यम से हमेशा हमारे बीच रहेंगे। मैं शोक संतप्त परिवार और उनके प्रशंसकों के प्रति अपनी गहरी संवेदना प्रकट करता हूं। भगवान दिवंगत आत्मा को शांति दें। ॐ शांति।"

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी एक्स पर लिखा : "गज़ल गायन की दुनिया में अपनी अमित छाप छोड़ने वाले पंकज उधास जी के निधन से मुझे काफी दुख की अनुभूति हुई है। उनकी मखमली आवाज और गायक दिल को सुकून देने वाली और भीतर तक छू जाती थी। उनका जना संगीत जगत के लिए एक बड़ी बात है। शोक की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं उनके परिजनों और तमम प्रशंसाको के साथ हैं। ॐ शांति।"

केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने भी पंकज उधास के निधन पर दुख व्यक्त करते हुए एक नोट लिखा।

मंत्री ने लिखा, ''पंकज उधास जी के निधन की खबर से गहरा दुख हुआ। चार दशकों से अधिक समय तक चले उनके करियर ने हमारे संगीत उद्योग को समृद्ध किया और हमें गज़लों की कुछ सबसे यादगार और मधुर प्रस्तुतियां दीं। उनका निधन हमारे संगीत जगत के लिए एक अपूरणीय क्षति है। उनके परिवार, दोस्तों और उनके प्रति मेरी हार्दिक संवेदनाएं। भगवान उनकी आत्मा को शांति दे।"

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक्स पर लिखा : "प्रख्यात गायक 'पद्मश्री' पंकज उधास जी का निधान अत्यंत दुःख एवं संगीत जगत की पूर्णिया चती है। प्रभु श्री राम से प्रार्थना है कि दिव्य आत्मा को अपने श्री चरणों में स्थान दें मैं स्थान तथा शोककुल परिजनों और प्रशांसकों को दुख सहने की शक्ति दे।”

पंकज उधास का लंबी बीमारी के बाद सोमवार को 72 साल की उम्र में मुंबई में निधन हो गया। वह कैंसर से पीड़ित थे और पिछले कुछ समय से एक निजी अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था।


Download Vishva Times App – Live News, Entertainment, Sports, Politics & More

  • Source
  • आईएएनएस

FEATURE

MOST POPULAR